1942 का मंत्र था ‘करेंगे या मरेंगे’, आज हमारा संकल्प है ‘करेंगे और करके रहेंगे’

0
442



1942 का मंत्र था 'करेंगे या मरेंगे', आज हमारा संकल्प है 'करेंगे और करके रहेंगे'

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here